Pages

Adsense

Thursday, March 9, 2017

नहीं पढ़ना कोई और चैपटर


नहीं पढ़ना कोई और चैपटर  ....... सिर्फ इतनी किताब ही काफी है ,
इस अधूरे से इश्क़ की उमर तो देखो  ......... जितनी कम करो उतनी और अधिक भाती है ।

No comments:

Post a Comment